ये एक हिंदी साइट है जो लोगो को physics ,blog और social sciences ke बारे में जानकारी दी जाती है

ईमेल के द्वारा सदस्यता ले

शनिवार, 4 मार्च 2017

विद्युत फ्यूज (electric fuse) और स्विच

हलो फ्रेंड हम आज जानकारी देने वाले विद्युत फ्यूज यानी(electric fuse ) और स्विच के बारे में की ये क्या है और इस के कार्य क्या दोस्तों अगर मेरी पोस्ट अछि लगे तो शेयर जरूर करे तो हम जानते है कि विद्युत फ्यूज क्या ओके।
विद्युत फ्यूज-कभी कभी आंधी या तूफान आने से या किसी वस्तु के गिरने से बिजली की लाइनों के तार एक दूसरे से स्पर्श हो जाता है जिसके फलस्वरूप लाइन में होकर बिजली की काफी प्रबल धारा बनने लगती है ।धारा के प्रबल होने से इतनी अधिक ऊष्मा उत्पन्न होती है कि परिपथ में लगे बल्बो पंखे रेडियो आदि  जलकर ख़राब हो जाते है। इसलिए यह आवश्यक है कि परिपथ में विधुत सामर्थ्य को एक निशिचत सिमा के सीमा के अंतर्गत रखा जाय।इससे बचने के लिए मुख्य लाइन के साथ श्रेणी क्रम में कम गलनांक तथा अधिक प्रतिरोध का एक पतला तार लगा देते है ।इस तार को फ्यूज तार कहते है।जब कभी परिपथ में किसी कारण से धारा का मान एक निर्धारित मान से अधिक हो जाता है तो फ्यूज तार तुरन्त गर्मी से पिघलकर टूट जाता है और पारपथ का सम्पर्क धारा से समाप्त हो जाता है जिससे विद्युत उपकरण जलने से बच जाते है।फ्यूज तार प्रॉयः टीन और ताँबे के बने होते है और चीनी मिट्टी के बर्तनों में लगे रहते है जिससे आवश्यक पड़ने पर उनको लगाया भी जा सकता है
अब हम जानेंगे की स्विच क्या होता है ओके।
स्विच-यह एक ऐसी युक्ति है जिसके द्वारा विद्युत धारा का प्रवाह पुरे परिपथ में किया जाता है या रोक जाता है यह फेस तार पर लगायी जाती है।फेस तार के बीच में इस प्रकार लगाया जाता है कि फेस तार के दोनों भाग इसकी सहायता से एक दूसरे से सम्बंधित या विच्छेदित किये जा सकते है।स्विच प्रॉयः विद्युत रोधी पदार्थो की बनायीं जाती है जिससे इसको स्पर्श करने पर विद्युत धारा का सम्पर्क शारीर से न हो सके।अगर मेरे इस पोस्ट से आप लोगो को कुछ जानकारी मिली हो तो इस पोस्ट को लाइक और कमेंट और शेयर जरूर करेविद्युत फ्यूज (electric fuse) और स्विचविद्युत फ्यूज और स्विच

3 टिप्‍पणियां:

If you have any doubt Please let me know