ये एक हिंदी साइट है जो लोगो को physics ,blog और social sciences ke बारे में जानकारी दी जाती है

ईमेल के द्वारा सदस्यता ले

मंगलवार, 7 मार्च 2017

घरेलु विद्युत संयोजन

हलो दोस्त कैसे है आप लोग इससे पिछले पोस्ट हम ये जान गए थे की विद्युत ऊर्जा क्या होता है और उसके स्त्रोत क्या होता है और आज हम ले चलते है आप को घरों में प्रयोग होने उपकरण के बारे में ।मुझे उम्मीद है कि जो लोग साइंस में intrested  होंगे उनेह ये पोस्ट अच्छा लगेगा ।
घरेलु विद्युत संयोजन-घरो में  हम बल्ब जलाने ,और पंखा कूलर आदि को चालाने में करते है ।घरो में विद्युत का उपयोग करने के लिए  जिन्योक्तियो का उपयोग किया जाता है  उसे वायरिंग कहते ।घर में वायरिंग का उद्देश्य बाहर स्थति विद्युत स्त्रोत से घर को सम्बंधित करते हुए सुरक्षा के साथ घर में अनेक कमरों एव स्थानों में बल्बो टूयूब लाइट पंखों टी० वी० इटियाद के लिए विद्युत प्रदान करने तथा खर्च होने वाले विद्युत के मापन की ब्यवस्था करना है । विद्युत खम्बो में बहुत से खींचे तार लगे रहते है । इन तारो की संख्या इस प्रकार होती है इनमे एक फेस तार तथा दूसरा नूट्रल तार होते है। जिन स्थानों पर इन लाइनों के तार जोड़े जाते है उन फेश पॉइंट तथा नूट्रल पॉइंट कहते है ।फेस पॉइंट का तार पोल फ्यूज से होकर मीटर  के फेस पॉइंट से जोड़ा जाता है।पोल फ्यूज में एक विशेष प्रकार का तार लगा रहता है जो दो तारो को जोड़ता है ।इसका मुख्य कार्य यह होता है  कि जब किसी कारण से परिपथ में तीव्र विद्युत धारा बहने लगती है तो या स्वय जलकर नष्ट हो जाता है जिसके फलस्वरूप विद्युत परिपथ में धारा का प्रवाह रुक जाता है और घर में लगे उपकरण जलने से बच जाते है।

अब नूट्रल पॉइंट का तार नूट्रल लिंक से होकर मीटर नूट्रल पॉइंट से जोड़ा जाता है ।मीटर से आने वाले फेस तार को एक फ्यूज से जोडते हुए  मैं स्विच के पॉइंट से जोड़ देते है।तथा मीटर से बाहर आने वाले नूट्रल तार को मेन स्विच के नूट्रल पॉइंट से जोड़ते है ।में स्विच की सहायता से हम पुरे घर की वायरिंग में विद्युत परवाह खोल या बंद कर सकते है। तो दोस्त अगर अभी  वायरिंग और नूट्रल फेस और  फेस पॉइंट नही समझ आया होगा तो आप मेरे मैसेज बॉक्स में कमेंट कर सकते है।

3 टिप्‍पणियां:

If you have any doubt Please let me know